लेकर गया है नामा ऐ आमाल साथ मे दुनिया से आज तक कोई तन्हा नही गया

लेकर गया है नामा ऐ आमाल साथ मे दुनिया से आज तक कोई तन्हा नही गया

- in Meerut
85
0

मो रविश

लावड़(मेरठ)

तरही शेरी नशिस्त में शायरों ने वाहवाही लूटी

देर रात तक चले प्रोग्राम में जमे रहे लोग
क़स्बे के मोहल्ला मोमिन अंसार में एक तरही शेरी नशिस्त का आयोजन ‘अंजुमन मुहहिब्बाने उर्दू अदब लावड़’ की तरफ से किया गया जिसकी अध्यक्षता कमाल क़ुरैशी व संचालन यूनुस वफ़ा ने किया। नशिस्त में शाहिद हसन शाहिद ने अपने खयालो का इज़हार करते हुए कहा कि,
लेकर गया है नामा ऐ आमाल साथ मे,
दुनिया से आज तक कोई तन्हा नही गया।
हाफ़िज़ अजमल ने अपना कलाम पेश करते हुए कहा,
तेरे बग़ैर किस तरह हमने गुज़ारी है,
अब तक भी दिल से मां तेरा सदमा नही गया।
हाफ़िज़ ज़मीर ने अपना कलाम पढ़ते हुए कहा
दुनिया मेरे खुदा को बसानी थी इसलिये,
जन्नत से यूँही मुझको निकाला नही गया।
क़ारी ओसामा ने अपनी बात कुछ इस तरह कही,
अपनी ना बात कीजिये उनकी तो सोचिए,
वोह जिनके मुंह मे निवाला नही गया।
महताब आलम ने अपना कलाम इस तरह पढ़ा
दुनिया से तेरे इश्क़ का चर्चा नही गया,
दिल से जो दर्दे उल्फ़ते लैला नही गया।
हाफिज कामिल ने अपने अशआरों में कहा,
तब तक बहाल ना हो सके है जब तलक,
फन आस्तीन के सांप का कुचला नही गया।
देर रात तक चले प्रोग्राम में लोगो ने शायरी का जमकर लुत्फ उठाया। इनके अलावा यूनुस वफ़ा, कासिद, तालिब हाशमी, यमली खां मोमिन, शाहरुख़ सफदर व मौ० असलम ने भी अपने कलामों से खूब वाहवाही लूटी।
इस दौरान हाजी नफीस, आरिफ फ़ैज़ी, मास्टर फरीद, आकिल आलम, इसरार, मोहसिन करीम, मौ० असलम, आफताब खान, मौ० राशिद, अनस सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

फूल माला पहनाकर किया चौकी इंचार्ज को विदा

  लावड़/मेरठ मौ० रविश लावड़ चौकी इंचार्ज शिवबीर