उत्तरकाशी : लॉक डाउन में ढील मिलने के बाद काम बेहिसाब है मगर लेबर और मिस्त्री का पड़ा अकाल,ढूंढे नहीं मिल रहे

उत्तरकाशी : लॉक डाउन में ढील मिलने के बाद काम बेहिसाब है मगर लेबर और मिस्त्री का पड़ा अकाल,ढूंढे नहीं मिल रहे

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
483
0
@admin
  • संतोष साह

लॉक डाउन में ढील मिलने के बाद मिस्त्री और लेबर का अकाल पड़ गया है। अब ढूंढे नही मिल रहे हैं मिस्त्री और लेबर जबकि काम की कमी नहीं है। दरअसल पहाड़ में अधिकांश निर्माण कार्य जिनमे सरकारी,गैर सरकारी,व्यक्तिगत निर्माण कार्य पिछले कई वर्षों से बिहार,झारखंड,पूर्वी उत्तर प्रदेश से आने वाले मिस्त्री और मजदूरों के भरोसे होते आये हैं।

इस बीच कोरोना संक्रमण के चलते हुए लॉक डाउन के फलस्वरूप यहाँ उक्त प्रदेशों के लगभग अधिकांश मिस्त्री और लेबर अपने-अपने प्रदेशों को लौट गए। इस बीच अन लॉक डाउन पार्ट- 1 में ढील मिलने के बाद जिस तरह से रोजमर्रा की जिंदगी में थोड़ा बहुत भाग दौड़ शुरू हुई साथ ही कामकाज को लेकर आवश्यक निर्माण से संबंधित सामान भी आने लगा।

लेकिन इसमे ब्रेक मैन पावर को लेकर लग गया। हालात देख पता चलता है कि काम तो बहुत है मगर लेबर और मिस्त्री का अकाल पड़ गया है जो ठेकेदारों से लेकर व्यक्तिगत निर्माण करने वालों को भी नही मिल रहे हैं। निर्णाण सामग्री के कुछ विक्रेताओं ने बताया कि सामान खरीदने के दौरान निर्माण कार्य कराने वाले उनसे कही से लेबर,मिस्त्री भी दिलाने की बात कर रहे हैं। सरकारी,गैर सरकारी कई निर्माण कार्य हैं जिसके लिये ठेकेदारों को लेबर,मिस्त्री के लिये हाथ पैर मारने पड़ रहे हैं तो एक अनुमान के अनुसार जिला मुख्यालय में ही करीब चार दर्जन से अधिक भवन अंडर कंस्ट्रक्शन लेबर और मिस्त्री के बगैर निर्माण न हो पाने से अधर में लटके हैं।

गौरतलब है कि बाहरी मजदूर न केवल निर्माण बल्कि रेता-बजरी ढोने वाले खच्चर और घोड़े भी लोगों के संभाले हुए थे। बहरहाल लॉक डाउन से पहले सामान्य हालात में नगर उत्तरकाशी के जोशियाड़ा चौराहे में बाहरी मजदूरों का जो हुजूम कभी दिखाई देता था वहाँ अब सुबह-शाम कोई लेबर,मिस्त्री ढूंढे नही मिलता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : विधायक गोपाल ने कोविड-19 में मीडिया कर्मियों के सहयोग पर उन्हें सेनेटाइज व आयुष किट भेंट किये

संतोष साह गंगोत्री विधायक गोपाल रावत ने कोविड-19