झिंझाना उर्स के मेले में “मुकाबला कव्वाली” में समा बांध गए कव्वाल

झिंझाना उर्स के मेले में “मुकाबला कव्वाली” में समा बांध गए कव्वाल

- in article, Shamli, states, Uttar Pradesh
69
0
@admin
  • तसलीम आलम / सनसनी सुराग / झिंझाना शामली

झिंझाना  हजरत सैयद इमाम महमूद नसरुद्दीन सब्जवारी का शहीद रहमतुल्लाह आले 853 वा वर्ष का मेला चल रहा है । जहां पूरी रात बाहर से आये कव्वालों ने कव्वाली के रूप सवाल – जवाब देकर दर्शकों को रातभर जमाये रखा ।‌

‌‌ मिली जानकारी के अनुसार यहा कस्बे मे महमूद हसन नसरूदीन सब्जवारी की मजार पर 853 वें उर्स का मेला चल रहा है । जहाँ मेले मे बीती रात मुकाबला कव्वाली का आयोजन हुआ । कार्यक्रम का आगाज़ खुर्शीद आलम मीडिया को – ओर्डिनेटर हज कमैटी करनाल , आशिष मित्तल नगर अध्यक्ष व्यापार मंडल , आसिफ पीरजी व मेला कमैटी व दरगाह के सज्जादे नशी अमजद हुसैन , सचिव बाबर कद्दूसी आदि ने फीता काटकर किया ।
मुकाबला कव्वाली में देवबन्द से आये मशहूर कव्वाल नौशाद साबरी व महिला कव्वाल सीमा वारसी के‌ बीच रौचक मुकाबला हुआ । नौशाद साबरी ने तिरंगे को अपना सर्वस्व मानते हुए कव्वालियां सुनाई तो मोहतरमा सीमा वारसी मे भी सटीक जवाब मे कव्वालिया पेश की । जिसे दर्शकों ने दिवसे सराहते हुए तालिया बजाकर उनका स्वागत किया । मेला ठेकेदार हाजी रईस ने साथियों के साथ मिलकर सुन्दर व्यवस्था की। इस मौके पर पुलिस व्यवस्था भी अच्छी रही । दर्शकों ने पूरी कव्वालियों का लुफ्त उठाया । आगामी 28 सितम्बर मे रात को आल इंडिया मुशायरे का कार्यक्रम होना है ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : परसेंटेज ऑफ वोट आपदा पर पड़ रहा भारी

संतोष साह जिले के अंतिम चरण के पंचायत