जिला उद्योग मित्र की बैठक गुरूवार को जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

जिला उद्योग मित्र की बैठक गुरूवार को जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

- in Pithoragarh
246
0

पिथौरागढ़
जिला उद्योग मित्र की बैठक गुरूवार को जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में उद्योग कंेद्र के अंतर्गत संचालित विशेष प्रोत्साहन नीति एवं सूक्ष्म लघु एवं मध्यम नीति तथा ब्याज उपादान के अंतर्गत प्राप्त दावों पर विचार विमर्श कर स्वीकृति प्रदान की गयी।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ाये जाने व उद्योगों की स्थापना किये जाने हेतु सरकार की उद्योगों की स्थापना हेतु जो भी योजनाएॅ संचालित की जा रही है उसका लाभ समयान्तर्गत उद्योगों को मिले यह जिम्मेदारी उद्योग एवं संबंधित विभागों की है। उन्होंने कहा कि जनपद में उद्योगों की स्थापना हेतु एक बेहतर माहौल बनाते हुए उद्यमियों को कम से कम समय पर उनके द्वारा प्रस्तुत आवेदनों पर स्वीकृति प्रदान करने हेेतु संबंधित विभागों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करना होगा इस हेतु जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक जिला उद्योग कंेद्र कविता भगत को निर्देश दिए कि जिस भी योजना के अंतर्गत उनके कार्यालय में आवेदन प्राप्त होते है वह तत्काल एकल खिड़की की व्यवस्था के अंतर्गत संबंधित विभागों को निस्तारण हेतु प्रेषित करते हुए स्वंय संबंधित विभागीय अधिकारी से वार्ता कर स्वीकृति प्रदान कराए। उन्होंने कहा कि कोई भी आवेदन अधिक समय तक लंबित नही रहना चहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि जनपद पिथौरागढ़ में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा दिये जाने हेतु उद्योग विभाग एक अनुकूल वातावरण बनाते हुए जनपद में उद्योगों की स्थापना करने हेतु इच्छुक उद्यमियों को तत्काल मदद करते हुए उद्योगों की स्थापना करने हेतु तत्परता से कार्य करना सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक उद्योग केंद्र को यह भी निर्देश दिए कि विभिन्न नीति के अंतर्गत जनपद में ब्याज उपादान के जितने भी दावे वर्तमान में जनपदस्तर पर लंबित है उन सभी दावों को 10 जनवरी 2019, तक निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि ब्याज उपादान हेतु जो भी दावे जनपदस्तर पर लंबित है एक सप्ताह के भीतर दावों का निस्तारण करते हुए संबंधित उद्यमियों के बैंक खाते में धनराशि जमा कर ली जाय तथा अतिरिक्त धनराशि हेतु शासन को पत्र प्रेषित किया जाय।
बैठक में सर्वप्रथम वर्तमान में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम नीति 2015 के अंतर्गत 10 प्रतिशत ब्याज उपादान सहायता हेतु मैसर्स गोपाल लौह कला गणाई द्वारा प्राप्त आवेदन पर समिति द्वारा चर्चा करते हुए रू0 16460 ब्याज उपादान की संस्तुति की गयी। बैठक में 06 प्रतिशत ब्याज उपादान सहायता योजनान्तर्गत जिला उद्योग केंद्र को प्राप्त कुल 14 ईकाइयों के प्रस्तुत ब्याज उपादान के कुल रू0 1 लाख 90 हजार, 482 के प्रस्तुत दावों पर चर्चा करते हुए समिति द्वारा उन्हें सुंस्तुति प्रदान की गयी। इन इाकईयों मे कालीन उद्योग, होटल, ऊनी उद्योग, आटा चक्की, फर्नीचर, काश्तकला, मासाला चक्की व इंजीनियरिंग वक्स उघोग है।
बैठक में 02 आवेदन पत्र जो भूमि/लैंड बैंक उपलब्ध कराये जाने के संबंध में प्राप्त हुए थे उक्त संबंध में विगत 04 माह से लंबित आवेदनों के निस्तारण न करे जाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए तीन के भीतर लंबित आवेदनों के निस्तारण करने के निर्देश महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र को देने के साथ ही जिलाधिकारी ने उद्योग केंद्र परिसर में निर्माणाधीन ग्रामीण हाट भवन के निर्माण की समीक्षा करते हुए कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश निर्माण निगम को निर्देश दिए कि उक्त भवन में सभी अवशेष कार्यों को 03 दिन में करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि इस अवधि में कार्यदायी संस्था द्वारा अगर कार्य पूर्ण नही किया जाता है तो संबंधित कार्यदायी संस्था के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक जिला उद्योग कें्रद को निर्देश दिए कि आगामी 01 जनवरी 2019 से ग्रामीण हाट का संचालन इस भवन में प्रत्येक दशा में प्रारम्भ किया जाय। बैठक में एकल खिड़की व्यवस्था एवं आॅनलाईन प्राप्त आवेदन की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी आवेदन आॅनलाईन प्राप्त होते है एक निश्चित अवधि के अंतर्गत उनका निस्तारण प्रत्येक दशा में होना आवश्यकीय है इस हेतु संबंधित विभागों की भी जिम्मेदारी है कि वह प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्यवाही कर स्वीकृति प्रदान करें। बैठक में औद्योगिक परिक्षेत्र पिथौरागढ़ में बेकरी उद्योग स्थापित कर रहे उद्यमी द्वारा पेयजल संयोजन के उपरांत भी पेयजल की आपूर्ति न होने की समस्यां से जिलाधिकारी को अवगत कराया। उक्त संबंध में जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल संस्थान को त्वरित समस्यां के समाधान के निर्देश दिये गये। बैठक में औद्योगिक परिक्षेत्र में आरसेठी के प्रशिक्षण भवन के निर्माण की कार्यवाही की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने उक्त भवन के शीघ्र निर्माण के संबंध में शासन को पत्र लिखने के भी निर्देश दिए।
बैठक में मुख्य कोषाधिकारी डा0 पंकज कुमार शुक्ला, जिला लीड बैंक प्रबंधक प्रवीन सिंह गब्र्याल, निदेशक आरसेठी के0बी0पुनेठा, स्वास्थ्य विभाग से आये डा0 ललित भट्ट, जिला पर्यटन अधिकारी अमित लोहनी समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा उद्यमी उपस्थित रहे।

आगामी 24 से 29 दिसम्बर 2018 तक जनपद पिथौरागढ़ के जनरल बी0सी0 जोशी पब्लिक स्कूल में आयोजित होने वाली सेना भर्ती मेले के संबंध में अपर जिलाधिकारी आर0डी0पालीवाल द्वारा अपने कार्यालय कक्ष में भर्ती आयोजन से जुडे़ विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करने के साथ ही भर्ती आयोजन स्थल जनरल बी0सी0जोशी आर्मी पब्लिक स्कूल का भी स्थलीय निरीक्षण किया गया। अपर जिलाधिकारी द्वारा सर्वप्रथम भर्ती में आने वाले अभ्यार्थियों के ठहरने आदि की व्यवस्था के संबंध में समीक्षा करते हुए इन स्थानों में विभिन्न विभागों के जिलास्तरीय अधिकारियों को नोडल अधिकारी तैनात करने के साथ ही प्रत्येक ठहरने वाले स्थल पर राजस्व उपनिरीक्षकों की भी तैनाती कर ली गयी है।
सेना भर्ती रैली के आयोजन को दृष्टिगत रखते हुए अभ्यर्थियों की आवास व्यवस्था, विभिन्न होटलों व बारातघरों में की गयी है इन स्थलों में आवश्यक व्यवस्था एवं निगरानी हेतु नोडल अधिकारी बनाये गये है जिसमें जिला पर्यटन विकास अधिकारी अमित लोहनी को राजा होटल, कमल बारात घर, पुष्पांजलि बैंकेट हाॅल एवं उत्सव बारात घर का नोडल अधिकारी, जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रशांत चैधरी को लंुठी बारात घर माॅ कृृपा बैंकेट हाॅल, पार्थ बारात घर, ईओ नगरपालिका दीपक कुमार को नगरपालिका, बारातघर भाटकोट, चैधरी बैंकेट हाॅल व आर्शीवाद बैंकेट हाॅल तथा जिला खाद्य सुरक्षा को बखाली एवं संकल्प बारात घर एवं खंड विकास अधिकारी विण को विकासखंड विण का नोडल अधिकारी बनाने के साथ ही इन सभी स्थानों में राजस्व उपनिरीक्षक भी तैनात किये गये है। अपर जिलाधिकारी आर0डी0पालीवाल ने मेले के दौरान परिवहन व्यवस्था आदि के संबंध में सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी व क्षेत्रीय प्रबंधक उत्तराखंड परिवहन निगम को सभी व्यवस्थाएॅ यथासमय सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपजिलाधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिए कि वह  स्वंय समस्त होटलों एवं बारातघरों को स्थलीय निरीक्षण करते हुए 22 दिसम्बर 2018 तक सभी व्यवस्थाएॅ पूर्ण करना सुनिश्चित करें।
बैठक में उपजिलाधिकारी पिथौरागढ़ राजकुमार पाण्डे, प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली ध्यान सिंह, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अमिल लोहनी, जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रशंात चैधरी समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : आपदा प्रभावित इलाके में चॉपर की इमरजेंसी लैंडिंग तारों के अवरोधक बनने के कारण हुई,आर्यन कंपनी के दोनों पायलट शुशांत व अजीत सुरक्षित

  संतोष साह / उत्तरकाशी मोरी के आपदा