हरिद्वार : बोर्ड परीक्षा में राज्य की मेरिट सूची में आने वाले जनपद के विभिन्न विद्यालयों के छात्रों को DM ने किया पुरस्कृत

हरिद्वार : बोर्ड परीक्षा में राज्य की मेरिट सूची में आने वाले जनपद के विभिन्न विद्यालयों के छात्रों को DM ने किया पुरस्कृत

- in haridwar
259
0

 

हरिद्वार / सनसनी सुराग
जिलाधिकारी हरिद्वार दीपक रावत ने जनपद में नयी पहल करते हुए प्रतिवर्ष बोर्ड परीक्षा में राज्य की मेरिट सूची में आने वाले जनपद के विभिन्न विद्यालयों के छात्रों को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम का आयोजन जिलाधिकारी के निर्देश पर शिक्षा विभाग की ओर से किया गया। वहीं मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती स्वाति भदौरिया ने बोर्ड परीक्षाओं में विभिन्न ब्लाॅकों में अल्पसंख्यक समुदाय की 80 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली छात्राओं को जनपद में किसी भी कारणों से शिक्षा से वंचित हो रहे छात्रों को प्ररित करने के लिए ब्रांड अम्बेस्डर के रूप में चयनित कर सम्मानित किया।

इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने अपने खुद के छात्र जीवन का अनुभव साझा करते हुए छात्रों का उत्साहवर्धन किया। लगातार हरिद्वार से बोर्ड मेरिट सूची में छात्रों का शामिल होना एक अच्छा संकेत बताया। उन्होंनें कहा कि सरस्वती विद्या मंदिर मायापुर के छात्रों का प्रति वर्ष राज्य स्तर पर मेरिट सूचि में आना सभी के लिए गौरव की बात है। इस वर्ष भी सरस्वती विद्या मंदिर के 6 बच्चे राज्य स्तर पर बनने वाली टाॅप 25 में तथा एक बच्ची काॅमर्स विषय में बनने वाली मेरिट में राज्य में प्रथम स्थान पर रही है। सरस्वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य डाॅ विजयपाल तथा मेरिट सभी छात्र, शिक्षक एवं अभिभावक बधाई के पात्र हैं। भारत सरकार के सर्वे में हरिद्वार जिले का शिक्षा तथा स्वास्थ्य में पीछे पाया जाना दर्शाता है कि हमें सभी स्तर पर शिक्षा में व्यापक सुधार करने हैं। जनपद की शिक्षा तथा स्वास्थ्य व्यवस्था में गुणात्मक सुधार के लिए विकास विभाग शिक्षा तथा स्वास्थ्य की तस्वीर बदलने के लिए प्रयास कर रहा है। छात्र-छात्राओं का ड्राॅप आउट रेट एवं बालिका शिक्षा में सुधार करने तथा शिक्षा को रूचिकर तथा गुणवत्ता युक्त बनाने के लिए हरिद्वार जिले में ई लर्निंग का वातावरण तैयार किया जा रहा है। सीडीओ की ओर से सभी विद्यालयों तथा आंगनबाड़ी केंद्र्रो को प्रोजेक्टर तथा तकनीकी सहायता से कक्षायें चलाने प्रोजेक्टर आदि प्रदान किये जा रहे हैंे।

सीडीओ ने कहा कि टाॅपर बने सभी छात्रों को अपना लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। कोई भी छात्र यदि प्रशासनिक सेवा में जाना चाहता है तो वह निसंकेाच प्रयास करे। बड़े पदों को पाने वाले भी सामान्य व्यक्ति हैं। अपनी क्षमताओं को पहचाने और विकास करें। प्रतिभावन छात्र जिला प्रशासन की ओर से चल रही प्रेरणा कोचिंग का भी लाभ अर्जित करें। जो अल्पसंख्यक छात्रायें बेहतर कर यहां सम्मानित हुई हैं वह जिले भर में अल्पसंख्यक वर्ग की छात्राओं को प्रेरित करे तथा प्रशासन का सहयोग करें।

इस अवसर पर उपाध्यक्ष राव अफाक अली, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरडी शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, सरस्वती विद्या मंदिर मायापुर के प्रधानाचार्य डाॅ विजय पाल, सरस्वती विद्या मंदिर भेल के प्रधानचार्य, कार्यक्रम का संचालन रोहिताश्व कुंवर प्रधानचार्य ज्वालापुर इण्टर ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Exclusive : उत्तरकाशी : सामान खरीदने के लिए कीचड़ में भी टूट पड़े लोग

  संतोष साह /उत्तरकाशी माघ मेला समाप्त होने