उत्तरकाशी : तीन साल में एक बार होता है पांच गाँवों का ये थौलू….

उत्तरकाशी : तीन साल में एक बार होता है पांच गाँवों का ये थौलू….

- in Other Updates
1675
0
@admin
  • विकाश डिमरी / दिखोली / उत्तरकाशी

उत्तरकाशी के डुंडा ब्लॉक के चौरंगी खाल में हर्षोल्लास से मनाया गया पाँच गाँव गाजणा का सुप्रसिद्ध त्रिवार्षिक मेला ( थौलु ) गुरू चौरँगीनाथ मेला / गाजणा कु प्रसिद्ध हलवादेवता थौलु ।

पांच दिवसीय इस मेले में देवताओ के पोराणिक एवँ आकर्षक डौलियाँ ,निशान तथा हलवावीर देवता का बाडी़ खाने वाला मनोहर व आश्चर्य चकित कर देने वाला दृश्य मेले का मुख्य आकर्षण केन्द्र रहा।

माना जाता है कि हलवा देवता के द्वारा लगायी जाने वाली कन्डाली (बिच्छू घास) से प्राणी को भयन्कर रोगो तथा दोषो (छलक्षिद्र) आदि से हमेशा के लिए रोगमुक्त हो जाता है।

पाँच गाँव के ग्रामीण इस मेले मे निमँत्रण हेतु अपने दूर -दराज के भाई बन्धुओ ,रिस्तेदारों तथा ध्याँणियो को निमँत्रण देते है तथा सभी लोग अपने अपने काम काज से छुट्टी लेकर इस मेले मे पधारते है और सभी देवी –देवताओ के दर्शन ( चौरँगीनाथ ,हरिमहाराज,हूणियानाग,नागराजा,खँन्डद्वारी माँ,भैरवनाथ,हलवा देवता,)आदि के दर्शन पा कर आशिर्वाद प्राप्त करते है।

चौरँगी देवता मेला समिति गाजणा(चौण्डियाटगाँव,दिखोली,सौड़,लोदाडा,भेटियारा) के लोग इस मेले का धूम धाम से आयोजन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

गोपेश्वर : जिला मुख्यालय के पास जंगलों में भीषण आग, दहशत का माहौल

अशोक सेमवल / चमोली/गोपेश्वर जिला मुख्यालय गोपेश्वर के