उत्तरकाशी : 20 साल हो गए मंत्री पद का इंतजार करते गंगा के उद्गम गंगोत्री को, आंखिर कब तक होती रहेगी परीक्षा

उत्तरकाशी : 20 साल हो गए मंत्री पद का इंतजार करते गंगा के उद्गम गंगोत्री को, आंखिर कब तक होती रहेगी परीक्षा

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
1239
0
@admin
  • संतोष साह

सीमांत जनपद उत्तरकाशी की गंगोत्री विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक चर्चाओं में रहती है। सरकार बनाने में भी इस विधानसभा का कोई जवाब नहीं। उत्तराखंड बने 20 साल हो रहे हैं लेकिन अब भी परीक्षा जारी है। भाजपा के अंदर लगातार मांग उठ रही है कि गंगोत्री को भी एक मर्तबा उसका हक मिलना चाहिये।

भाजपाई शीर्ष नेतृत्व को न सिर्फ यह मैसेज दे रहे हैं कि गंगोत्री से ही सरकार बनती है बल्कि उससे कहीं अधिक बढ़ा यह संदेश भी पहुंचा रहे हैं कि 2017 के चुनाव में जहाँ एक ओर प्रमुख विपक्षी दल को शिकस्त दी तो वहीं घर के भेदियों जो कि लंका ढाने की बात कर रहे थे उनको भी उनके ही घर मे धूल चटाने का जो गंगोत्री विधानसभा में मैच हुआ उसका इनाम किसी मंत्री पद से कम नहीं हो सकता।

इस बीच संगठन और विधानसभा में पार्टी कार्यकर्ताओं का एक बड़ा जनादेश गंगोत्री विधायक गोपाल रावत को लंबे समय से मंत्री बनाने की मांग करता आ रहा है। कार्यकर्ताओं की माने तो सीमांत जिले को मंत्री मंडल में शामिल करने से जहां सरकार में जनता का संदेश अच्छा जाएगा तो वहीं विधानसभा का आधे से अधिक हिस्सा जो कि इको सेंसिटिव में है उस पर मंत्री पद रहते समय-समय पर पैरवी करने का भी अवसर मिलेगा,कैबिनेट की मोहर लगनी हो तो अड़चन भी नहीं आएगी साथ ही उत्तराखंड बनने के बाद यदि पहली बार गंगोत्री को मंत्री पद मिलता है तो यह जिले के लिये गौरव की बात होगी।

उधर भाजपा प्रदेश सरकार में जल्द ही मंत्री मंडल का विस्तार होना है। मंत्री पद की दौड़ में वैसे तो कई नामों की फेहरिस्त है लेकिन इस बार गंगोत्री विधानसभा से विधायक गोपाल रावत का भी पार्टी की ओर से मजबूत पक्ष होना बताया जा रहा है। उनकी ईमानदार छवि,खुले विचार,किसी को झूठे आश्वासन न देना,पार्टी व संगठन के प्रति समर्पित भाव,जनसमस्याओं के समाधान को लेकर ही उन्हें मंत्री बनाये जाने की बार-बार मांग उठ रही है और एक बार गंगोत्री विधानसभा की झोली में मंत्री पद डाले जाने की बात हो रही है। उधर इस बात पर भी कोई संदेह नहीं कि विधानसभा समेत जिले में एक बड़ा तबका एक बार गंगोत्री को कैबिनेट में देखना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : लॉक डाउन में ढील मिलने के बाद काम बेहिसाब है मगर लेबर और मिस्त्री का पड़ा अकाल,ढूंढे नहीं मिल रहे

संतोष साह लॉक डाउन में ढील मिलने के