फ़िट दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्बोधन के निर्बाध प्रसारण की व्यवस्था कर आज कॉलेज में छात्रों को शारिरिक फ़िटनेस के लिए फिट रहने की प्रेरणा दी।

फ़िट दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्बोधन के निर्बाध प्रसारण की व्यवस्था कर आज कॉलेज में छात्रों को शारिरिक फ़िटनेस के लिए फिट रहने की प्रेरणा दी।

- in Shamli
91
0

सनसनी सुराग न्यूज
तसलीम आलम/डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा
झिंझाना जनपद शामली

झिंझाना 29 अगस्त। फ़िट दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्बोधन के निर्बाध प्रसारण की व्यवस्था कर आज कॉलेज में छात्रों को शारिरिक फ़िटनेस के लिए हॉकी , कब्बड्डी , आदि खेलों के माध्यम से फ़िट रहने को खेलों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की प्रेरणा दी गई ।
आज स्थानीय जय सीताराम किसान इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य रन सिंह के नेतृत्व में शिक्षा अधिकारियों के निर्देशन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीधे प्रसारण की व्यवस्था को एलईडी व जनरेटर की व्यवस्था की गई । और प्रातः 10:00 बजे से कार्यक्रम का सीधा प्रसारण बच्चों को दिखाया गया। बच्चों ने उत्सुकता के साथ प्रधानमंत्री मोदी को सुनते हुए खेल के महत्व को समझा । कार्यक्रम का संचालन प्रवक्ता ऋषि पाल चौहान एवं सुनील कुमार वारी ने किया । सभी शिक्षकों का सहयोग सराहनीय रहा।

 


कृमि नाशक दवा का वितरण
झिंझाना 29 अगस्त । आज जय सीताराम किसान इंटर कालेज में विद्यार्थियों को एल्बेंडाजोल की एक खुराक दी गई ।
प्रधानाचार्य रन सिंह ने छात्रों को पेट में कीड़े ( क्रमी ) की उपस्थिति से होने वाली अनेक बीमारियों को बताते हुए इससे बचने के तरीके बताएं ।उन्होंने बताया एल्बेंडाजोल एंथेलमींटिक या कृमिनाशक दवाओं के वर्ग के अंतर्गत आता है । और यह कीड़े को शक्कर (ग्लूकोज) को अवशोषित करने से रोकता है। जिससे कीड़ा ऊर्जा खो देता हैं और वह मर जाता है।उन्होंने बताया कि यह अधिकतर मामलों में दी जाने वाली Albendazole की खुराक है। साथ ही उन्होंने कड़ी चेतावनी भी दी कि हर रोगी और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए रोग, दवाई देने के तरीके, रोगी की आयु, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर Albendazole की खुराक अलग हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : आपदा प्रभावित इलाके में चॉपर की इमरजेंसी लैंडिंग तारों के अवरोधक बनने के कारण हुई,आर्यन कंपनी के दोनों पायलट शुशांत व अजीत सुरक्षित

  संतोष साह / उत्तरकाशी मोरी के आपदा