उत्तरकाशी : मुख्यमंत्री ने किया पंचायत प्रतिनिधियों से ई – संवाद, कोविड-19 की लड़ाई में योगदान की सराहना की

उत्तरकाशी : मुख्यमंत्री ने किया पंचायत प्रतिनिधियों से ई – संवाद, कोविड-19 की लड़ाई में योगदान की सराहना की

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
367
0
@admin
  • संतोष साह

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने आज पंचायत प्रतिनिधियों के साथ ई- संवाद के जरिए उनकी कोविड-19 की लडाई में सहयोग की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में पंचायत प्रतिनिधियों की अहम भूमिका है। उनका यह भी कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की दिशा में सभी को मिलजुलकर काम करना है साथ ही चुनौतियों को अवसर में बदलना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में पूरा विश्व कोविड-19 के दौर से गुजर रहा है। इस दौरान पंचायत प्रतिनिधियों ने एक योद्धा की तरह भूमिका का निर्वहन किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे जनप्रतिनिधियों की भूमिका और अधिक बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि हमे सतर्कता और जागरूकता पर विशेष ध्यान देना होगा। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आत्म निर्भर भारत के लिये 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज,स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा देने,गरीबो को राहत के लिये नवम्बर माह तक निशुल्क राशन आदि का भी जिक्र किया।

उन्होंने कोविड से लड़ने के लिये सभी जरूरी आवश्यकताओं में भी भारत के आत्मनिर्भर होने के साथ ही जरूरतमंद देशों को भी पीपीई किट व मास्क निर्यात करने की भी बात कही। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की भी बात कही और इसमे 150 तरह के कार्य की योजना का भी जिक किया।
इधर मुख्यमंत्री के इस संवाद कार्यक्रम में डीएम और विधायक गंगोत्री गोपाल रावत भी थे।

डीएम डॉ. आशीष चौहान ने अवगत कराया कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में अब तक 337 द्वारा आवेदन किया गया है। 89 का चयन कर लिया गया है। जबकि अन्य आवेदकों की प्रक्रिया गतिमान है। डीएम ने कृषि,बागवानी, मत्स्य पालन आदि में भी रोजगार योजना को बढ़ावा देने के कार्यों की भी जानकारी दी।

उन्होंने कोविड-19 में सभी व्यवस्थओं से भी अवगत कराया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी जितेंद्र सकसेना,महाप्रबंधक उद्योग यू. सी. तिवारी,डीपीआरओ हरीश आर्य, गर्ल्स इंटर कॉलेज प्रिंसीपल सीमा,जिला पंचायत सदस्य मनीष राणा,सभासद देवेंद्र चौहान, सविता भट्ट समेत पंचायत प्रतिनिधि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पिथौरागढ़ के 136 परिवारों का गांव धापा धंस रहा,दरारें कर रही गांव छोड़ने को मजबूर,पुर्नवास के लिये 10 अगस्त को तहसील घेरने की दी चेतावनी

संतोष साह पिथौरागढ़ जिले का सीमांत गांव धापा