डी एम ने युवाओं को योजना के अन्तर्गत संबंधित बैंक द्वारा ऋण न देने पर जाहिर की नाराजगी।

डी एम ने युवाओं को योजना के अन्तर्गत संबंधित बैंक द्वारा ऋण न देने पर जाहिर की नाराजगी।

- in Uttarkashi
81
0

वीरेंद्र सिंह /सनसनी सुराग
जिलाधिकारी आषीश चौहान के अध्यक्षता में आज जिला सभागार में जिला उद्योग मित्र समिति की बैठक हुई। जिलाधिकारी ने पिछले बैठक में दी गई निर्देषों का बिन्दु वार समीक्षा की। उन्होने  स्थानीय उत्पाद को गुणवत्ता के साथ बढावा देने एवं बोटिंग, साइकिल, पर्वतारोहण, बेकरी प्रोडेक्ट, टेण्ट रिजोर्ट, मुर्गी फार्म एवं बेकरी के क्षेत्र में युवाओं को स्वरोगार से बढावा देने के लिए संबंधित अधिकारी को आवष्यक दिषा निर्देष दिये। उन्होने युवाओं को योजना के अन्तर्गत संबंधित बैंक द्वारा ऋण न देने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। जिस पर जिलाधिकारी ने वरिश्ठ कोशाधिकारी को बैकों में विभागों से जा रही ट्राजेक्सन एवं व्यवसाय का रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देष दिये। साथ ही कहा कि जिन बैंको द्वारा कृशि एवं उद्योग के क्षेत्र में अच्छे कार्य करने वाले बैंको को बिजनेस दिया जायेगा। बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों के स्पश्टीकरण लेने के निर्देष दिये।
जिलाधिकारी डा0 चौहान ने जनपद में बैरोगार युवाओं को विभिन्न क्षेत्र में स्वरोगार से जोड़ने हेतु ग्राउड तैयार करने की कवायद षुरू कर दी। जिससे षहरों की ओर हो रहे पलायन एवं बैरोजगारी पर रोक लगेगें। उन्होने महा प्रबंधक उद्योग को निर्देष देते हुए कहा कि 15 दिन के अन्दर स्थानीय उत्पाद को बढावा देने हेतु बेकरी प्रोडेक्ट एवं मषाले के क्षेत्र में काम करने वाले युवाओं तैयार करें। साथ ही गवाणा गणेषपुर में उद्योग हेतु आबंटित भूखण्ड पर उद्योग संचालन न करने वालों को प्रेशित नोटिस के तहत हटावाने का कार्यवाही करे। उन्होने सब्जी के क्षेत्र में प्रगतिषील किसान से वार्ता कर किषान आउट लेट परिसर में सब्जी मार्केट षुरू कराने के निर्देष दिये।  जबकि जिला पर्यटन अधिकारी को निर्देषित किया कि बोटिंग, साइकिल, पर्वतारोहण एवं टेण्ट रिजोर्ट के क्षेत्र में कार्य करने वाले सक्रीय युवाओं से आवेदन कराये।
जिलाधिकारी ने कहा कि युवाओं को स्वरोजगार से जोडने हेतु बेहतर से बेहतर प्लेटफार्म है। जिनमें झील पर बोटिंग करना, फायर फोक्स साइकिल के आउट लेट व चिन्यालीसौड वीच में टेण्ट एवं रिजोर्ट आदि का संचालन करना, पर्वतारोहण को सामान एवं उपकरण बेचना, उत्पाद को अच्छी गुणवत्ता व स्थानीय ब्राण्ड के साथ बाजार में लाकर अच्छी मुनाफा कमाना, बेकरी प्रोडेक्ट षुरू करना इन सभी क्षेत्र में बैरोजगार लोगों को स्वरोजगार से जोडकर पलायन पर विराम लगाया जा सकता है। साथ ही आर्थिकीय क्षेत्र में भी संबर्द्धन होगा।
इस अवसर पर एलडीएम डी.ए. पाल, वरिश्ठ कोशाधिकारी हिमानी स्नेही, जिला महाप्रबंधक उद्योग एसएस रावत, प्रकाष सिह खत्री, सृश्टी सामाजिक संस्थान के पदाधिकारी दिनेष भट्ट, संबंधित अधिकारी, बैकर्स एवं उद्यमी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी: बडकोट वन विभाग के गेस्ट हाउस के नजदीक जंगल में मिला युवक का शव।

वीरेंद्र सिंह /सनसनी सुराग -ख़बर बड़कोट से है