लावड़ : मुज़फ्फरनगर से तय होगी पश्चिम की चौधराहट

लावड़ : मुज़फ्फरनगर से तय होगी पश्चिम की चौधराहट

- in article, Politics, states, Uttar Pradesh
174
0
@admin
  • मौ० रविश / लावड़

पश्चिमी उत्तर प्रदेश की मुज़फ्फरनगर लोकसभा सीट इस बार भी चर्चाओं के केंद्र मे बनी हुई है। पिछले लोकसभा चुनाव से पूर्व मुज़फ्फरनगर में हुए साम्प्रदायिक दंगों से पूरा देश हिल गया था। दंगे के बाद हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में शानदार प्रदर्शन करते हुए तत्कालीन कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन को सत्ता से बाहर कर केंद्र की सत्ता पर कब्ज़ा करने में कामयाबी हासिल की थी। पिछले लोकसभा चुनाव में मुज़फ्फरनगर सीट से भाजपा प्रत्याशी संजीव बालियान ने तत्कालीन बसपा सांसद कादिर राणा को लाखों वोटों से मात दी थी। जिसके बाद संजीव बालियान को कुछ समय के लिए केंद्र सरकार में मंत्रिपद भी दिया गया था। बाद में उन्हें मंत्रिपद से हटाकर प्रदेश में संगठन की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी। 2019 लोकसभा चुनाव में भी भाजपा की तरफ से संजीव बालियान चुनावी समर में उतर चुके है। वही विपक्ष की तरफ से रालोद सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह जीत की तलाश में मुज़फ्फरनगर से मैदान में मज़बूती से डटे हुए है। वही कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी चौधरी अजित सिंह के सामने कोई प्रत्याशी नही उतारने का फैसला किया जा चुका है।

पांचो विधानसभाओ में भाजपा विधायकों का कब्ज़ा- 2017 के विधानसभा चुनाव में मुज़फ्फरनगर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली पांचो विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा प्रत्याशियो ने जीत दर्ज की थी। सरधना विधानसभा से भाजपा के संगीत सोम, चरथावल से भाजपा के विजय कश्यप, मुज़फ्फरनगर विधानसभा से भाजपा के कपिल देव अग्रवाल , बुढ़ाना विधानसभा से भाजपा के उमेश मलिक तथा खतौली विधानसभा से भाजपा के विक्रम सैनी ने जीत दर्ज कर कमल खिलाया था।

कांटे की टक्कर के आसार – मुख्य पार्टियों से मात्र दो उम्मीदवारों के मैदान में होने से ज़बरदस्त मुकाबला होने की उम्मीदों को बल मिला है। निवर्तमान सांसद संजीव बालियान जहां भाजपा सरकार द्वारा देश व क्षेत्र में कराए गए कार्यो व खुद के प्रयासों से जनता के हित मे कराये गए कार्यो के दम पर जनता के बीच समर्थन मांगेंगे वही चौधरी अजित सिंह भाजपा सरकार की वादाखिलाफी, जीएसटी, नोटबन्दी आदि मामलो को जनता के बीच उठाकर समर्थन बटोरने का प्रयास करेंगे। अजित सिंह व संजीव बालियान दोनों ही गांव गांव जाकर लोगो से वोट और सपोर्ट की अपील कर रहे है। जाट समाज की वोटो को अपने पाले में करने पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जहाँ अजित सिंह के लिए गठबंधन पार्टियों के नेता एड़ी चोटी का जोर लगा रहे है वही संजीव बालियान के पक्ष में माहौल बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी सहित संगठन के तमाम नेता बीते गुरुवार को मुज़फ्फरनगर लोकसभा क्षेत्रान्तर्गत सिवाया में रैली कर चुके है। अब देखना यह है कि संजीव बालियान दोबारा मुज़फ्फरनगर सीट पर कमल खिलाने में कामयाब होते है या चौधरी अजित सिंह के सर जीत का सेहरा बंधता है। एक बात तो तय है कि 23 मई को आने वाले 2019 लोकसभा चुनाव परिणामों के बीच देश की निगाह मुज़फ्फरनगर की तरफ ज़रूर जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : डीएम के फरमान का हुआ असर, आयुर्वेदिक के 24 कर्मियों को आपदा प्रभावित मोरी में कैम्प करने के आदेश जारी

संतोषः साह / उत्तरकाशी डीएम उत्तरकाशी के फरमान