बागेश्वर: जंगलों में लगी आग, 20 हैक्टेयर जंगल आग की चपेट में।

बागेश्वर: जंगलों में लगी आग, 20 हैक्टेयर जंगल आग की चपेट में।

- in Uttarakhand
30
0

22 मई, 2018
रिपोर्ट— जगदीश उपाध्याय, बागेश्वर
स्थान— बागेश्वर
बागेश्वर जिले के तीनों ब्लाकों समेत हिमालयी क्षेत्रों से सटे जगंल बीते दिनों से आग से धधक रहे हैं। जिससे वन संपदा के साथ ही जंगल में मवेशियों के लिए उपयुक्त चारा भी नष्ट हो रहा है। जंगल में कई औषधि युक्त पौधे भी पाए जाते हैं। ये सब भी आग में जल कर नष्ट हो रहे हैं। करीब 20 हैक्टेयर जंगल आग की चपेट में हैं।
बागेश्वर जिले के जंगल बीते एक सप्ताह से धधक रहे हैं। जंगल जलने से एक ओर जहां पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचा रहा है वहीं इमारती लकड़ी के साथ ही मवेशियों के चारे की भी दिक्कत हो रही है। आग से वन्य जीवों का जीवन भी संकट में होने से उनका रुख आबादी की ओर हो रहा है। इसके अलावा ब्लॉक के आरे, चंडिका, गिरेछीना, कठपुड़ियाछीना, मनकोट आदि के जंगल में भी आग नहीं बुझी है। पूरे जिले के वातावरण में धुआं छाया है। इससे लोगों को कई तरह की स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां हो रही है।

इसके साथ ही कपकोट क्षेत्र के उच्च हिमालयी क्षेत्र भी आग की चपेट में हैं। आग लगने से जहां वन संपदा को नुकसान पहुंच रहा है वहीं जंगल में मवेशियों के लिए उपयुक्त चारा भी नष्ट हो रहा है। आग से बांज, फयांट सहित अन्य कीमती लकड़ियों को नुकसान पहुंचा है।

जिले में कुल वन क्षेत्र 66236.2 हेक्टेयर है। वन विभाग का कहना है कि अभी करीब बीस से पच्चीस हेक्टेयर वन क्षेत्र में आग लगी हुवी है। वन विभाग ने 29 क्रू स्टेशन बनाए हैं जिनमें 145 कर्मचारी तैनात हैं। वनाग्नि से निपटने के लिए शासन से वन विभाग को 10 लाख 20 हजार रूपये निर्गत कर दिए गए हैं। इधर जिलाधिकारी ने वन महकमे को वनों में लगी आग को बुझाने के लिए कड़े निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी: बडकोट वन विभाग के गेस्ट हाउस के नजदीक जंगल में मिला युवक का शव।

वीरेंद्र सिंह /सनसनी सुराग -ख़बर बड़कोट से है