अल्मोड़ा: शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिये जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान को अहम भूमिका निभानी होगी- जिलाधिकारी।

अल्मोड़ा: शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिये जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान को अहम भूमिका निभानी होगी- जिलाधिकारी।

- in Almora
70
0
अल्मोड़ा –शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिये जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) को अहम भूमिका निभानी होगी। यह बात जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने आज डाइट में सलाहकार समिति कार्यक्रम की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर एक प्रतिभा दिवस का आयोजन किया जाय जिसमें ग्रामीण क्षेत्र के छात्र-छात्राओं की प्रतिभाग निखर कर आयेगी, साथ ही प्रशिक्षणों का आयोजन आवश्यकता अनुसार किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रतिभा दिवस के बारे में शिक्षको को बताकर छात्र-छात्राओं को इसके प्रति जागरूक किया जाय। इस प्रतिभा दिवस के लिये प्रतिभावान शिक्षक व छात्र-छात्राओं की सूची तैयार की जाय।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने पुराने भवनों सहित निर्माणधीन भवनों का भी निरीक्षण किया तथा पुराने भवनों की आवश्यक मरम्मत करने के निर्देश मौके पर उपस्थित अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि छात्रावास की सामग्री क्रय करने के लिये टेण्डर प्रक्रिया पूर्ण कर सामान क्रय किया जाय तथा कम्प्यूटर सम्बन्धी जो भी सामग्री क्रय की जानी है उसमें क्रय समिति में जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को सदस्य नामित किया जाय। डाइट हेतु जो भी उपकरण क्रय किये जाने है उसके लिये पृथक से प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत किया जाय। जिलाधिकारी ने क्षमता संवर्द्धन गतिविधियाॅ कराने की बात कही तथा डाइट के लिये डी0टी0एस0 डोट कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये। 
जिलाधिकारी ने इस अवसर पर यह भी निर्देश दिये कि डाइट यह भी सुनिश्चित करेगा कि जनपद में कहाॅ-कहाॅ पर प्राथमिक व माध्यामिक विद्यालय बन्द किये जाने है आवश्यक है औचित्य सहित रिर्पोट देगें। इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी द्वारा मूल्य आधारित शिक्षा शिक्षण सन्दर्भिका का विमोचन किया गया। जिसका सम्पादन प्रवक्ता गोपाल सिंह गेड़ा द्वारा किया गया था।

जिलाधिकारी ने कहा कि बैठकों में जो भी निर्णय लिये जाते है उस पर क्या-क्या कार्यवाही की गयी उसका कार्यवृत्त अवश्य बनाया जाय तभी इन बैठको का सही मायने में लाभ मिल पायेगा। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम मे जो भी दिक्कतें आती है उसका संज्ञान अवश्य लिया जाय साथ ही माडल स्कूलों सहित जनपद स्तर व विकास खण्ड स्तर में प्रथम चक्र में एक विशेष कार्यक्रम के तहत उन्हेें विकसित किया जाय ताकि अन्य विद्यालय उसका अनुसरण कर सके। सेवारत प्रशिक्षण के लिये एम0टी0 व्यवस्था सहित विकास खण्ड के हैड मास्टरो की ट्रेनिंग दिलायी जाय। इस महत्वपूर्ण बैठक में वार्षिक कार्य योजना व बजट पर विस्तृृत चर्चा हुयी। इसके अलावा कार्यक्रम, गतिविधिया, संकाय विकास कार्यक्रम, प्रस्तावित कार्यक्रमों का अनुमोदन, समग्र शिक्षा अभियान के अन्तर्गत, प्राथमिक, उच्च प्राथमिक/हाईस्कूल व इण्टर आदि विषयो ंपर चर्चा हुयी। और जिलाधिकारी ने कहा कि जो कार्य आवश्यक है उनको किया जाय तथा जिन कार्यों हेतु अनुमानित बजट प्रस्तावित किया गया है उसका औचित्य स्पष्ट करते हुये पुर्न विचार किया जाय।

?
जिलाधिकारी ने योग, शारीरिक एवं बाल विकास शिक्षा को महत्व देने की बात कही। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान देने की बात कही साथ ही उन्होंने प्राचार्य को निर्देश दिये कि इस प्रशिक्षण संस्थान में इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जाय जिससे शिक्षकों को लाभ मिलने के साथ-साथ प्रशिक्षण संस्थान की अपनी पहचान बनी रहे। इस अवसर पर प्राचार्य डाइट डा0 राजेन्द्र सिंह, प्रधानाचार्य रा0इ0का0 चैरा हवालबाग डा0 देवेन्द्र सिंह बिष्ट, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक राय साहब यादव, एस0सी0इ्र्र0आर0टी0 डा0 हरेन्द्र अधिकारी, प्राचार्य सी0टी0ई0एम0वी0 कालेज हल्द्वानी डा0 हेमचन्द्र जोशी, डा0 भुवन चन्द्र पाण्डे, नियोजन एवं प्रबन्धन गोपाल सिंह गैडा, डा0 हरीश जोशी, प्रकाश पंत, श्रीमती विद्या कर्नाटक, विनोद राठौर, दिनेश बिष्ट, गोपाल गिरी सहित प्रशिक्षण संस्थान के शिक्षक व कर्मचारी सहित बाल विकास विभाग, समाज कल्याण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम के समन्वयक योजना प्रबन्धन विभाग के प्रवक्ता डा0 भुवन चन्द्र पाण्डे, हेम चन्द्र द्वारा संयुक्त रूप से संचालन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हथियारों के बल पर दिया लूट की घटना को अंजाम, हुए फरार।

नवीन गोयल/मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर में देर रात राज्य राजमार्ग