अल्मोड़ा- छात्र-छात्राओं को मेरी रसोई मेरा भोजन के बारे में भी बताया जाय: जिलाधिकारी

अल्मोड़ा- छात्र-छात्राओं को मेरी रसोई मेरा भोजन के बारे में भी बताया जाय: जिलाधिकारी

- in Almora
48
0

अल्मोड़ा/सनसनी सुराग

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने जनपद में चलाये जा रहे रूपांतरण कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस योजनान्तर्गत समस्त ब्लाॅकों के विद्यालयों को चक्रानुसार आच्छादित किया जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि रूपांतरण कार्यक्रम के अन्तर्गत स्थानीय स्तर पर कृषि, पशुपालन, वृक्षारोपण, फुलवारी आदि के क्षेत्र में विशेष उपलब्ध जानकारी रखने वाले स्थानीय कृषक/पशुपालकों को कार्यक्रम में बुलाया जाय साथ ही बच्चों को वृक्षारोपण के बारे में बताया जाय। विद्यालयों में वैस्ट मेटरियल हेतु पृथक-पृथक गडढे बनाकर उसमें वेस्ट मेटरियल को डालने के लिए प्रेरित किया जाय। अभिभावक संघ की बैठक बुलाकर विकास खण्ड स्तर पर अच्छे कार्य करने वालो को सम्मानित किया जाय। इसके अलावा विद्यालयों में सौन्दर्यकरण, स्वच्छता पर ध्यान देने के लिए भी जागरूक किया जाय साथ ही उन्हें व्यक्तिगत स्वच्छता के बारे में बताया जाय। छात्र-छात्राओं में मेरी रसोई मेरा भोजन के बारे में भी बताया जाय।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि विद्यालयों में पुस्तकालय को विकसित किया जाय साथ ही मुख्य शिक्षाधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद के समस्त विद्यालयों की विकासखण्डवार सूची तैयार कर ली जाय जहाॅ पर इस बात को अवश्य दर्शाया जाय कि विद्यालय की सड़क से कितनी दूरी है सड़क के किनारे कितने विद्यालय है तथा जनपद में कितने विद्यालय बन्द हो चुके है उन बन्द विद्यालयों को आॅगनबाड़ी केन्द्र व पंचायत घर बनाकर उनको उपयोग में लाया जाय। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि रिक्त अध्यापकों की सूची भी उपलब्ध करायी जाय। जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों, खण्ड शिक्षाधिकारियों, उप खण्ड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने क्षेत्रान्तर्गत रिसार्ट मालिको, होटल स्वामियों से भी अपील कर विद्यालयों को गोद लेने हेतु कहा जाय।
जिलाधिकारी ने सर्व शिक्षा अभियान व राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत भी इन विद्यालयों को चयनित कर अच्छादित किया जाय। उन्होंने इस अवसर पर निर्देश दिये कि पूर्व में रूपान्तरण कार्यक्रम हेतु 15 विद्यालयों को चयनित किया गया था उसमे से 11 विद्यालयों में कार्य पूर्ण हो चुका है शेष 04 विद्यालयों में कार्य गतिमान है। जिलाधिकारी ने कहा कि 10 विकासखण्डों में रूपान्तरण कार्यक्रम पूर्व में प्रारम्भ कर दिया गया था। विकासखण्ड स्याल्दे में अब इस कार्यक्रम को चालू किया गया है। उन्होंने मुख्य शिक्षाधिकारी को निर्देश दिये कि जो विद्यालय बनकर तैयार हो चुके है उनके हस्तान्तरण की कार्यवाही भी की जाय। जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधानों से भी अपील की है कि वे अपने स्तर से विद्यालयों वाॅल पेंटिग सहित अन्य जो आवश्यक मरम्मत है उसे कराना सुनिश्चत करेंगे ताकि शैक्षणिक माहौल अच्छा हो सके। जिलाधिकारी ने मुख्य कोषाधिकारी को निर्देश दिये कि इस रूपान्तरण कार्यक्रम हेतु जो धनराशि प्राप्त हुई है उसका अपने स्तर से परीक्षण कर लें साथ ही अन्य धनराशि जो समायोजित की जानी है उसके बारे में भी अपनी सुस्पष्ट आख्या दे दे।
मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि विकास विभाग द्वारा भी विद्यालयों को विकसित करने के साथ-साथ वहाॅ पर शौचालय आदि की व्यवस्था की जा रही है। इस बैठक में संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत हिमाशुं खुराना, खण्ड शिक्षाधिकारी गीतिका जोशी ने इस कार्यक्रम के बारे में विस्तृत रूप से बताया। इस अवसर पर मुख्य कोषाधिकारी गुलफाम अहमद, मुख्य शिक्षाधिकारी जगमोहन सोनी, जिला शिक्षाधिकारी बेसिक राय साहब यादव, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी टी0एस0 बिष्ट सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पौड़ी: पर्यटन मंत्री द्वारा किया गया प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का डीएवी इंटर कालेज परसिर में विधिवत दीप प्रज्वलित कर योजना का शुभारंभ।

पौड़ी/सनसनी सुराग देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने