अधिवक्ताओं का सामान तोड़ कर तहसील परिसर से बाहर फेंका : प्रशासन से टकराव

अधिवक्ताओं का सामान तोड़ कर तहसील परिसर से बाहर फेंका : प्रशासन से टकराव

- in Other Updates
252
0

नाजिम राणा

शामली। जनपद की ऊन तहसील में आज बार संघ व तहसील प्रशासन के बीच पूरा दिन टकराव की स्थिति बनी रही। तहसील प्रशासन द्वारा अधिवक्ताओं का फ़र्नीचर लॉकर,इत्यादि समान तोड़ फोड़ करकेबाहर फेंक दिया गया। सुबह तहसील पहुंचे अधिवक्ताओं ने जब अपना सामान टूटी फूटी स्थिति में परिसर के बाहर पड़ा मिला तो ,वे आग बबूला होगए, ओर उन्होंने प्रशासन के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी की विरोध प्रकट किया। इसके बाद अधिवक्ता जिला-धिकारी शामली से मिलने पहुंचे व घटना से अवगत कराया, व मांग की कि उनके लिए समुचित स्थान उपलब्ध कराया जाए, व सामान तोड़ने वालों पर कार्यवाही की जाए।

आपको बता दे की नवनिर्मित ऊन तहसील, में बार संघ को कोई भी जमीन अलॉट नही की गई है। तत्कालीन उपजिला-धिकारी ऊन के प्रयास से पूर्व चेयरमैन अशोक द्वारा बार संघ को कुछ जमीन औपचारिक रूप से दी गयी है, ओर बैनामे का आश्वासन भी दिया गया है। मगर महीनों से उस जगह पर जमीन मालिक द्वारा मिट्टी भराव का कार्य चलने के कारण अधिवक्ता गण तहसील परिसर के अंदर ही केंटीन के पास अपनी मेज कुर्सी व लोहे के लॉकर वगेरह रख कर बैठते आरहे थे। दो तीन दिन पहले निवर्तमान उपजिला-धिकारी गौरव सिंह सोगरवाल के तबादले के बाद अधिवक्ताओं ने कल यानी बुधवार को परिसर के अंदर उत्तर दिशा में मुख्य द्वार के पास बने वाहन स्टैंड में जीके ऊपर टीन शेड भी पड़ा हुआ है, में अपना समान रख लिया व बैठ गए इस पर ,तहसील दर अजय शर्मा द्वारा आपत्ति की गई, ओर बार अध्यक्ष को यहां न बैठने को कहा मगर बार संघ के लोगो ने वहाँ से हटने को मना कर दिया था। इसी के क्रम में ब्रहस्पतिवार को अधिवक्तागण जब तहसील पहुंचे तो, उन्होंने अपना सामान टूटी फूटी हालत में बाहर पड़ा देखा तो उनको समझ आगया की सामान किसके द्वारा फिंकवाया गया है। घटना से गुस्साये अधिवक्ताओं ने काम बंद कर दिया, व नारेबाज़ी कर विरोध जताया। इसके बाद समस्त अधिवक्ता जिला अधिकारी शामली के पास पहुंचकर सम्पूर्ण घटना क्रम से अवगत कराकर नाराज़गी जाहिर की , ओर उचित स्थान अलॉट कराने की मांग के साथ सामान तोड़ने वाले कर्मियों पर कार्यवाही की भी मांग की। बार संघ अध्यक्ष सत्यवीर सिंघबक कहना है कि हमको निवर्तमान उपजिला-धिकारी ने वाहन स्टैंड में अनोपचारिक रूप से बैठने की इजाज़त दी थी, उनके तबादले के बाद तहसीलदार ने उनके सामान को पुलिसकर्मियों व तहसील-कर्मियो की मदद से बीती रात तोडफ़ोड़ कराकर बाहर फिंकवाया है, मांग पूरी होने तक हम संघर्ष करते रहेंगे। तहसीलदार अजय शर्मा का कहना है पूर्व तहसीलदार मैडम चंद्रकांता द्वारा समझौते के तहत वकीलों को बाहर बैठने को जगह दी गयी है मगर दो दिन पूर्व एसड़ीएम ऊन के तबादले के बाद वकीलों ने पार्किंग एरिया में अपना सामान रख लिया था, मना करने पर वो नही माने तो उनका सामान बाहर रखवा दिया गया है।

 

 

 

 

बाइट

 

इस अवसर पर एडोकेट तसव्वर चौहान, सचिन मालिक,सतीश,शादाब,अनुज,जोगिंदर, सुरेंद्र, सतीश,नवीन,सोनू,राकेश,विनय, मोनिका गर्ग आदि मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़े बे आबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले……… उत्तरकुंजी विवाद-अध्यापक भर्ती काउंसलिंग निरस्त उच्च न्यायालय द्वारा अग्रिम आदेशों तक भर्ती रोकने का दिया आदेश

  @nazimrana चौसाना शामली। बुद्धवार 2जून2020 69000 सहायक