मिशन 2019 हाजी याकूब पर दाँव खेलेगी बसपा

मिशन 2019 हाजी याकूब पर दाँव खेलेगी बसपा

- in Meerut
40
0

 

खालिद इकबाल

मेरठ। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सपा-बसपा का गठबंधन उप्र में तय हो चुका है और अब पश्चिमी प्रदेश में प्रत्याशियों के चयन को लेकर भी चर्चा शुरू हो गई है।हालांकि इस गठबधन की अभी कोई औपचारिक घोषणा नहीं की गई है, लेकिन अखिलेश यादव अप्रत्यक्ष रूप से इसको स्वीकार कर चुके हैं। जबकि अभी मायावती की स्वीकृति की मुहर लगना बाकी है।शनिवार को दोपहर दोनों दलों के राष्ट्रीय अध्यक्ष लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर रहे है। बताया जा रहा है कि इस प्रेस वार्ता में गठबंधन को लेकर कुछ ऐलान हो सकता है। वहीँ दोनों दलों के बीच चुनावी गठबंधन से कार्यकर्ताओं में भी जोश देखने को मिल रहा है और प्रत्याशी के चयन को लेकर जो बात सामने आ रही है उससे खासकर बसपा कार्यकर्ता अधिक उत्साहित हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सपा-बसपा के गठबंधन के बाद मेरठ-हापुड़ लोकसभा सीट बसपा के खाते में जाना तय माना जा रहा है। बहुजन समाज पार्टी से जुड़े एक नेता के हवाले से खबर आ रही है कि वोटों और जातीय समीकरण के लिहाज से गठबंधन में बसपा का पलड़ा अधिक भारी है। जिसके कारण पश्चिम उप्र की यह महत्वपूर्ण सीट बसपा के खाते में ही आएगी। वहीं सूत्रों की मानें तो मेरठ-हापुड़ लोक सभा सीट से बसपा प्रत्याशी को ही लड़ाने की सहमति पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव दे चुके हैं। इसके लिए उम्मीदवार भी तय कर लिया गया है।सूत्रों और कुछ मीडिया रिपोर्टो के अनुसार आगामी लोकसभा चुनाव में पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी सपा-बसपा गठबंधन से उम्मीदवार होंगे। इतना ही नहीं लखनऊ में इसकी स्वीकृति पर मुहर लगाई जा चुकी है। वहीं बसपाइयों का भी मानना है कि भाजपा को गठबंधन की ओर से अगर कोई टक्कर दे सकता है तो वह याकूब कुरैशी ही है। जो धन और बल में भी मेरठ-हापुड़ लोकसभा से गठबंधन के प्रबल दावेदार है। बसपा और सपा के शीर्ष नेतृत्व का मानना है कि याकूब कुरैशी ही जातीय और सांप्रदायिक समीकरण के लिहाज से गठबंधन के लिए जिताऊ उम्मीदवार साबित हो सकते हैं।हालाँकि इस बात की अभी कोई पार्टी की तरफ से पुष्टि नहीं हुई है ,लेकिन अगर हाजी याकूब कुरैशी गठबंधन प्रत्याशी के तौर पर मैदान में आये तो अबकी बार उनका सांसद बनना पूरी तरह तय है। मौजूदा वक़्त में दलित और मुस्लिम गठजोड़ के परिणाम किसी से छिपे नहीं है।इस संबंध में जानकारी जुटाने के लिए जब हाजी याकूब से सम्पर्क किया तो वह उपलब्ध नही हो सके,जबकि बसपा नेता और हाजी याकूब के पुत्र हाफिज इमरान ने कहा कि गठबंधन के तहत यह सीट बसपा के खाते में आई है और बहिन जी का जो आदेश होगा उसी के अनुसार पुरजोर तरीके से फिरकापरस्त ताकतों को हराने का काम किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Exclusive : उत्तरकाशी : सामान खरीदने के लिए कीचड़ में भी टूट पड़े लोग

  संतोष साह /उत्तरकाशी माघ मेला समाप्त होने