यमुनोत्री धाम के कपाट भइया दूज पर शीतकाल के लिए बंद

यमुनोत्री धाम के कपाट भइया दूज पर शीतकाल के लिए बंद

- in Uttarkashi
589
0

 

संतोष साह / उत्तरकाशी
यमुना के उद्गम स्थल स्थित उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध तीर्थ धाम शुक्रवार को दोपहर में वैदिक मंत्रोच्चार और पूजा अर्चना के बीच शीतकाल के लिए बंद हो गए। इसके साथ ही माँ यमुना डोली अपने शीतकालीन निवास खरसाली के लिए ढोल नगाड़ों औऱ अपार जनसमूह के साथ रवाना हुई जो शाम को खरसाली मे विराजमान होगी जहां शीतकाल मे यमुना के दर्शन 6 माह तक हो सकेंगे। गौरतलब है कि यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने का शुभ मुहूर्त आज भैया दूज के दिन था इसलिए यमुनोत्री मे देश विदेश के तीर्थ यात्रियों समेत पंडा पुरोहित व स्थानीय लोग भारी संख्या में इस शुभ बेला पर मौजूद थे। ठीक 12 बजे के बाद कपाट बंद होने का शुभ मुहूर्त था औऱ वैदिक मंत्रोच्चार व पूजा अर्चना के साथ ही यमुनोत्री धाम स्थित मंदिर के कपाट बंद हुए। उल्लेखनीय है कि बीते रोज गंगोत्री धाम के भी कपट बंद ही चुके है। इस बार कपाट बंद होने के अवसर पर यात्री बर्फ के भी दीदार हुऐ। इसके अलावा इस बार ज़िले के डीएम डॉ आशीष चौहान ने भी यमुना की डोली को भी रवानगी मे सहारा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उपजिलाधिकारी ने खादर क्षेत्र के दर्जनों गांवों का किया निरीक्षण।

सनसनी सुराग न्यूज विशाल भटनागर/डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा