हरिद्वार : शहर की सड़कें हो गड्ढा मुक्त : कौशिक

हरिद्वार : शहर की सड़कें हो गड्ढा मुक्त : कौशिक

- in haridwar
173
0

15 जून तक शहर की सभी सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किया जाए। बिजली, पानी, सड़क, लाईट, सीवर, ट्रेफिक की समस्त व्यवस्थाएं सुचारू रूप से किये जाए। यह निर्देश शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने सी.सी.आर में विधानसभा क्षेत्र हरिद्वार के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक लेते हुए अधिकारियों को दिये। उन्होनें जल संस्थान एवं जल निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया कि गर्मी के मौसम को दृष्टिगत रखते हुए सम्पूर्ण शहर में पानी की आपूर्ति पूर्ण रूप से की जाए। जिन स्थानों पर पानी की लीकेज की समस्या है, उसे शीघ्र ठीक किया जाए। कनखल, श्रवणनाथ नगर एवं रलवे स्टेशन के आस-पास पानी की कमी के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन कम से कम चार घण्टे लोगों को पर्याप्त पानी उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि हरिद्वार धार्मिक नगरी होने के कारण प्रति दिन लाखों श्रद्धालू हरिद्वार आते हैं। किसी को भी पीने के पानी की कोई कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्होंने कहा कि यदि पानी से सम्बन्धित कोई शिकायत आती है, तो शीघ्र समाधान न करने पर मामले की जाॅच करा कर सम्बन्धित के खिलाप कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देश दिये कि अमृत योजना के तहत ज्वालापुर इण्टर काॅलेज में जो ट्यूबवेल बनना है उसका जिलाधिकारी को प्रस्ताव बनाकर भेजें।

शहरी विकास मंत्री ने कहा कि जिन सीवरेजों के ढ़कन टूटे हैं या खुले पड़े हैं, अधिक ऊंचे हैं उनको रिपेयर किया जाए। नगर निगम को स्ट्रीट लाइटों का उचित प्रबन्ध करने एवं स्वच्छता पर बल देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि 20 जून तक सभी नालों की सफाई की जाए। राजाजी नेशनल पार्क के अन्तर्गत आने वाले चैक डेम की सफाई व्यवस्था की जिम्मेदार राजाजी नेशनल पार्क के अधिकारियों को दी गई। लोक निर्माण विभाग और सींचाई विभाग को 15 जून तक सड़कों एवं पुलों को गड्ढ़ा मुक्त करने के निर्देश दिये। एच.आर.डी.ए. को चिन्हित पार्कों का सौन्दर्यीकरण करने को कहा। उन्होंने कहा कि जो 32 वेण्डिंग जोन चिन्हित किये गये हैं, सम्बन्धित विभाग को बुलाकर उसकी कार्ययोजना बनाई जाए। उन्होंने कहा कि शौचालय विहीन परिवारों का शीघ्र सत्यापन करा कर सूची उपलब्ध कराई जाए। केन्द्र सरकार की योजनाओं के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि पानी को सीवर ट्रीटमेंट प्लान से कन्स्ट्रक्शन एवं सींचाई के लिए प्रयोग किया जाए। श्री कौशिक ने एन.एच के अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ट्रेफिक प्लान के लिए ट्रेफिक एक्सपर्ट नियुक्त किया गया है। रिपोर्ट मिलते ही प्लान लागू किया जायेगा।

वर्षाकाल में रानीपुर मोड़  एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों में जलभराव की समस्याओं के समाधान के लिए शहरी विकास मंत्री ने जल निगम, बी.एच.ई.एल के अधिकारियों को उसका उचित समाधान निकालने हेतु निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बी.एच.ई.एल द्वारा जो तालाब बनाये जा रहे हैं, वो गहरे बनाये जाए जिससे उनमें अधिक जल का संचय हो सके। उन्होंने बी.एच.ई.एल एवं जल निगम के अधिकारियों को इसके समाधान हेतु विस्तृत कार्ययोजना बनाने को कहा।

बैठक में मेयर मनोज गर्ग, जिलाधिकारी दीपक रावत, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ अभिषेक त्रिपाठी, एस.पी. सिटी प्रमेन्द्र डोभाल, डी.एफ.ओ. एच.के.सिंह, नगर मजिस्ट्रेट जय भारत सिंह, एम.एन.ए. अशोक पाण्डे, सचिव एच.आर.डी.ए. अरविन्द पाण्डे, उप जिलाधिकारी हरिद्वार मनीष कुमार, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान मनीष सेमवाल, अधिशासी अभियन्ता जल निगम मोहम्मद मीसम, जिला विकास अधिकारी पुष्पेन्द्र चैहान, विकास तिवारी, संजय चोपड़ा, नरेश शर्मा, मोहित शर्मा आद उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

काशीपुर : बस की चपेट में आकर बाइक सवार की मौत

  सनसनी सुराग / काशीपुर बस की चपेट