योग करने से बालकों के व्यवहार में साफ दिखाई दे रहा है परिवर्तन

योग करने से बालकों के व्यवहार में साफ दिखाई दे रहा है परिवर्तन

  • मुजफ्फरनगर / अरबाज कुरैशी

आज शुक्रवार की सुबह शिक्षण संस्था ग्रीन लैंड माडर्न जूनियर हाईस्कूल मुजफ्फरनगर के भव्य मैदान रोजाना की भांति योगा क्लास लगी। यहां चल रहे बालक एवं बालिका चरित्र निर्माण योग शिविर में भारतीय योग संस्थान के जिला प्रधान पवन सिंह बालियान, केंद्र प्रमुख राजसिह पुण्डीर और प्रान्तीय कार्यकारिणी सदस्य सुरेन्द्र पाल सिंह आर्य ने बच्चों को योगाभ्यास कराया।

इस अवसर पर योगाचार्य सुरेन्द्र पाल सिंह आर्य ने यम के चतुर्थ अंग ब्रह्मचर्य पर प्रकाश डालते हुए सभी बच्चों को संबोधित करते हुये कहा कि हमारे पूरे शरीर में पांच ही ज्ञानेन्द्रियाॅ होती हैं जिनमे आॅख, जिव्हा, नाक, कान और त्वचा हैं। इन पांचो इन्द्रियो के पांच ही विषय हैं जिनमे क्रमशः रूप, रस, गंध, शब्द और स्पर्श हैं।

अपनी इन इन्द्रियों पर संयम रखने का नाम ही ब्रह्मचर्य है। आंखों से अच्छा देखें, कानों से अच्छा सुनें, मुख से शुद्ध एवं सार्थक बोलें। उन्होनें जानकारी देते हुये बताया कि इस किशोर बालक एवं बालिका चरित्र निर्माण योग शिविर में दिन-प्रतिदिन बालकों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। जिसमे बालकों के व्यवहार और दिनचर्या में परिवर्तन साफ दिखाई पड रहा है। आज के शिविर मे मुख्य रूप से तुषार मलिक, अंकुर मान, विपुल कुमार व देववृत आर्य आदि का विशेष सहयोग रहा।

  • GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्वच्छ वार्ड को हर माह दो लाख का पुरस्कार सुनिश्चित करे नगर निगम

स्वच्छ वार्ड को हर माह दो लाख का