धारा ३७० एवं ३५ ए समाप्त होने पर लोगो में ख़ुशी का माहोल

धारा ३७० एवं ३५ ए समाप्त होने पर लोगो में ख़ुशी का माहोल

- in Saharanpur, Uttar Pradesh
40
0

सतीश सेठी /ब्यूरोचीफ /सहारनपुर /सनसनीसुराग न्यूज़
धारा ३७० एवं ३५ ए समाप्त होने पर लोगो में ख़ुशी का माहोल

अपने चुनावी एजेंडे में भाजपा के द्वारा अनुच्छेद 370 व धारा 35 ए को हटाने की बात कही थी। केन्द्र में पूर्ण बहुमत की सरकार आने के बाद से पिछले काफी समय से नगर व क्षेत्र की सामाजिक संगठनों के द्वारा भाजपा की केन्द्र सरकार से जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 व धारा 35ए को हटाने की मांग चल रही थी। सोमवार की सुबह से ही केन्द्र सरकार की कैबिनेट की बैठक लेकर कश्मीर पर बड़ा खुलासा करने वाली थी। दोपहर के समय गृहमंत्री अमित शाह ने काश्मीर पर अपने विचार रखते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 व धारा 35 हटाने की घोषणा की। जिसके बाद नगर व क्षेत्र में श्री राम चौक पर जश्न ए कश्मीर का दौर शुरू हो गया। धारा 370 खत्म करने को सरकार की तारीफ की और मोदी जी और अमित शाह को धन्यवाद किया और कहा ये कलंक था भारत पर जो आज भारतीय जनता पार्टी ने मिटा दिया।
इस मौके पर बी .जे .पी. समर्थकों ने कहा कि आज से पूर्व हमारे देश में एक जंग अंग्रेजो के खिलाफ लड़ी थी जिसके बाद सन् 1947 में हमने स्वतंत्रता प्राप्त की थी और आजादी का जश्न मनाया था आज हमें यह सौभाग्य अपने यशस्वी प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री जी के द्वारा जम्मू कश्मीर को स्वतंत्र देखने का मौका मिला है आज का दिन सच्चा त्यौहार है आज वास्तव में भारत एक संपूर्ण देश हुआ है |जम्मू कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिलने पर व्यापारी द्वारा सबसे पहले उन शहीदों को याद किया गया जिन्होंने कश्मीर घाटी में शांति व्यवस्था बनाने एवं आतंकवाद से लड़कर उस को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए जिन सच्चे देशभक्त शहीदों ने अपने प्राणों की आहुति दी है।आज सही मायनों मैं उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि श्रद्धांजलि अर्पण हुई है जिसके लिए 130 करोड़ भारतवासियों का हृदय की गहराइयों के साथ अभिनंदन किया, जिनकी वजह से केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की मजबूत सरकार नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कार्य कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित

सतीश सेठी /ब्यूरोचीफ /सहारनपुर /सनसनीसुराग न्यूज़ पौधरोपण कार्यक्रम