तीन दिवसीय आपदा प्रबन्धन कार्यशाला का शुभारम्भ

तीन दिवसीय आपदा प्रबन्धन कार्यशाला का शुभारम्भ

- in haridwar, Uttarakhand
151
0
  • हरिद्वार / सनसनी सुराग
दैवीय आपदा को रोकना असम्भव है परन्तु इसके प्रभावों को कम करने के लिए  पूर्ण तैयारी, क्षमता वृद्धि, जागरूकता एवं त्वरित प्रतिवादन से आपदा से होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है। यह बात जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ ने कलक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में तीन दिवसीय आपदा प्रबन्धन कार्यशाला के दौरान कही। कार्यशाला का शुभारम्भ करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि  प्राकृतिक आपदाओं से बचाव के लिए आपदा प्रबन्धन द्वारा बनाये गये सिस्टम के अनुसार कार्य करें। कहा कि प्राकृतिक आपदाओं को कम करने के लिए आपदा प्रबन्धन सिस्टम का महत्वपूर्ण योगदान होता है। कहा कि  आज दो तरह के देश हैं, कुछ देशों में समय-समय पर सुनामी आने के बाद भी बहुत कम नुकसान होता है, जबकि कुछ देशों में एक ही सुनामी आने पर तहस-नहस हो जाता है। उन्होंने कहा कि प्रबन्धन तंत्र को मजबूत करने के लिए भरोसे लायक भी बनाना होगा। उन्होंने कहा कि सभी नोडल अधिकारी प्रशिक्षण को गम्भीरता से लें एवं अपने अनुभवों को भी शेयर करें।
कार्यशाला में बताया गया कि सेवन डेस्क सिस्टम की प्रणाली पूरे देश में आपदा प्रबन्धन के तंत्र के रूप में कार्यरत है। पूरे देश में एक ही पद्धति पर आधारित सेवन डेस्क सिस्टम कार्यरत है। सेवन डेस्क सिस्टम में एक समान फोर्मेट पर सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाता है। यह एक प्रशासनिक तत्र के रूप में कार्य करता है। इसलिए सेवन डेस्क सिस्टम को मानकीकृत एवं एकीकृत रूप में लागू किया जाता है। इसके सदस्य विभिन्न संस्कृति, भाषा परिवेश में कार्य कर सकते हैं। आपदा प्रबन्धन उत्तराखण्ड शासन से इन्सीडेंट रिस्पांस सिस्टम (आई.आर.एस) विशेषज्ञ  वी.वी.गणनायक  द्वारा आई.आर.एस. के विभिन्न पहलुओं, प्लानिंग, आॅपरेशन पर पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई।
 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व डाॅ ललित नारायण मिश्र, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की मयूर दिक्षित, उप जिलाधिकारी हरिद्वार मनीष कुमार, सी.एम.ओ.बी.एस.जंगपांगी, आपदा प्रबन्धन अधिकारी मीरा कैन्तुरा, डाॅ एच.डी. शाक्या, आर्मी, पुलिस, सी.आईएस.एफ के अधिकारियों सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चुनावी महाभारत : यमनोत्री में कोंग्रेस प्रत्तयासियों की भीड़

यमुनोत्री / अरविन्द थपलियाल विधानसभा: कांग्रेंस में कौन