झिंझाना के तिसंग गाँव मे नशे की खेती के मंसूबे नाकामयाब,आरोपी दलजीत सलाखों के पीछे

झिंझाना के तिसंग गाँव मे नशे की खेती के मंसूबे नाकामयाब,आरोपी दलजीत सलाखों के पीछे

- in Other Updates
109
0

पुलिस को मिली बडी सफलता

झिंझाना में नशे की खेती पर पुलिस का कब्जा

सनसनी सुराग न्यूज

झिंझाना जनपद शामली से
तसलीम आलम/डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा

तिसंग गांव के एक मकान मे अफीम की खेती के 55 पौधे बरामद

नारकोटिक टीम के भी पहुंचने की उम्मीद

पुलिस अधिकारियों के लिए भी चौंकाने वाला निकला मामला
झिंझाना 15 अप्रैल : पुलिस ने नशे के कारोबार से जुडी एक ऐसी आश्चर्यजनक घटना को पकडा है जो शायद कही दिखाई दे । पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर इस थाना क्षेत्र के गांव तिसंग के एक सिक्ख डेरे से नशे की यानि अफीम की बोई हुई फसल को पकडने मे भारी सफलता प्राप्त की है ।‌ इस मामले मे एक आरोपी को भी पुलिस ने पकड लिया है ।

और नशे की इस तैयार फसल को उखाड कर कब्जे मे ले लिया है । घटना की सूचना पर नारकोटिक टीम ने भी दिल्ली से इस मामलें मे संज्ञान लेते हुए यहा पहुंचने वाली है । पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट मे आरोपी का चालान करते हुए जेल भेज दिया है ।
‌‌ मिली जानकारी के अनुसार शामली के एसपी अजय कुमार पांडे अपनी तैनाती के बाद से ही नशे व इससे जुडे पदार्थों पर अपना फोकस कर रखते हुए इसके खिलाप अभियान चला रखा है । और इस अभियान ने नशे से जुडे लोगो की कमर तोड कर रख दी है । पुलिस ने नशे से जुडी एक आश्चर्यजनक घटना का पटाक्षेप किया है जो बडी दुर्लभ है ।
मुखबिर की सूचना पर स्वयं पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे मय थाना प्रभारी निरीक्षक ओपी चौधरी व पुलिस बल समेत इस थाना क्षेत्र के गांव तिसंग के पास रहने वाले एक सिक्ख परिवार से जुडे दलजीत सिंह पुत्र हरभजन सिंह के घर मे पहुंचे , जहां पर दलजीत सिंह ने लहसुन , प्याज के साथ अफीम भी बोई हुई थी । दलजीत सिंह ने पुलिस के हवाले से बताया कि यह फसल पक चुकी है इस पर गोल आकार का जो फल होता है उसमें चीरा लगा कर जो दूध जैसा द्रव्य निकलता है वही सूखने पर अफीम बनती है । और पेड पत्तियाँ को सुखाने के बाद डोडा पोस्त का चूरा बनता था । यानि के इस फसल से आम के आम और गुठली के दाम वाली कहावत चरित्रार्थ होती है ।
पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे ने बकौल आरोपी बताया कि जितना फल बरामद हुआ है उससे दो किलोग्राम से ज्यादा अफीम बनती है । और कचरे का भी डोडा पोस्त का चूरा बनता है । यह फसल अक्सर गन्ने के खेत आदि मे भी बोई जा सकती है । एसपी ने इस घटना की सूचना नारकोटिक टीम दिल्ली को सूचना दे दी है । जिसने घटना का संज्ञान लेते हुए घटना स्थल पहुंचने की बात कही है । दूसरी पुलिस ने आरोपी दलजीत के खिलाप एनडीपीसी एक्ट की धारा 18/20 के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत करके दलजीत सिंह को जेल भेज दिया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

झिंझाना के तायल पैट्रोल पम्प पर घटतौली का आरोप। आरोप लगाते हुए लोगों ने आज देर शाम जमकर काटा हंगामा। घटना की शिकायत की गई एसडीएम को

सनसनी सुराग न्यूज जनपद शामली तसलीम आलम/डॉ0 रणवीर