उत्तरकाशी में भूकम्प पर आधारित माॅक ड्रिल

उत्तरकाशी में भूकम्प पर आधारित माॅक ड्रिल

- in Uttarakhand, Uttarkashi
718
0
@admin
  • उत्तरकाशी / सनसनी सुराग

जनपद उत्तरकाशी आपदा की दृष्टि से अतिसंवेदनशील हैं। समय- समय पर आ रहे भूकम्प के दृष्टिगत आने वाले समय में यदि भूकम्प आता है तो उसके बाद खोज, बचाव एवं राहत कार्यो का किस तरह से मेैनेज किया जाना है इसके लिये अब तक जो तैयारी की गयी उसका आंकलन करने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्रधिकरण भारत सरकार के सहयोग से आपदा प्रबन्धन एवं पुनर्वास विभाग उत्तराखण्ड के तत्वावधान में आज भूकम्प पर आधारित माॅक अभ्यास किया गया। भूकम्प आधारित माॅक ड्रिल की रूप रेखा के अनुसार मौसम विभाग उत्तराखण्ड देहरादून द्वारा सूचना दी गयी कि प्रातः 10 बजे आये भूकम्प की तीव्रता 7.2 तथा गहराई 10 किमी0 जिसका केन्द्र जनपद चमोली है। जैसा ही भूकम्प आया उसके तत्काल इंसीडेंट रिस्पांस टीम सक्रिय हुयी। इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम में तैनात सभी अधिकारी कलक्ट्रेट पंहुचे जहां रिस्पास कमाण्डर( जिलाधिकारी) के नेतृत्व में रिस्पासं टीम स्टेजिंग एरिया रामलीला मैदान पंहुचे जहां टास्क फोर्स का गठन कर भूकम्प से प्रभावित क्षेत्र जिला चिकित्सालय उत्तरकाशी, राजकीय इण्टर कालेज नेताला, खण्ड विकास कार्यालय डुण्डा, ग्राम गंगोरी तथा बिरला धर्मशाला बस अड्डे के लिए खोज एवं बचाव के लिए अलग- अलग गठित टास्क फोर्स को रवाना किया गया। घटना स्थल पर रेस्क्यू टीम के साथ पंहुचे साईड सुपरवाइजर ने कन्ट्रोल रूम को सूचना दी कि बिरला धर्मशाला में 10 व्यक्ति की मृत्यु हुयी 350 व्यक्ति सामान्य तथा 70 व्यक्ति गंभीर घायल हुये । पेयजल, विद्युत व्यवस्था भी बाधित हुयी। भूकम्प प्रभावित क्षेत्र राजकीय इण्टर कालेज नेताला में 20 व्यक्ति मृत व 600 व्यक्ति सामान्य तथा 110 व्यक्ति गंभीर घायल हुये। उधर गंगोरी में में 35 व्यक्ति की मृत्यु , 450 व्यक्ति सामान्य तथा 80 व्यक्ति गंभीर घायल हुये । भूकम्प से खण्ड विकास विभाग डुण्डा में 22 व्यक्ति मारे गये तथा 300 व्यक्ति सामान्य तथा 31 व्यक्ति गंभीर घायल होने की सूचना है । इसके अलावा जिला चिकित्सालय में 29 व्यक्तियों की मृत्यु हुयी तथा 300 व्यक्ति सामान्य व 9 व्यक्ति गंभरी घायल हुये। आज आये भूकम्प से मोरी में 20 गम्भीर घायल, 120 सामान्य घायल तथा पुरोला तहसील में 30 गम्भीर घायल एवं 180 सामान्य घायल हुये। भूकम्प से 98 (छोटे-बड़े) पशु हानि हुयी वहीं 3 मोटर मार्ग 5 पेयजल लाईन 5 विद्युत लाईन क्षतिग्रस्त हुई। निजी क्षति में 50 भवन पूर्ण क्षतिग्रस्त तथा 735 भवन आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुये। माॅक ड्रिल में रिस्पांस टीम ने सभी घायलों को नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में पंहुचाया तथा गंभीर घायलों को देहरादून के लिए रेफर किया गया। भूकम्प से प्रभावित क्षेत्रों में पेयजल, विद्युत आपूर्ति बाधित हुयी। भूकम्प से राष्ट्रीय राजमार्ग नालूपानी एवं नेताला के समीप अवरुद्ध हुआ जिसे तत्काल यातायात के लिये खोल दिया गया। वहीं नाकुरी- सिंगोट, भटवाड़ी- बार्सू मोटर मार्ग अवरुद्ध हुआ। नाकुरी- सिंगोट मोटर मार्ग पर 20 मजदूरों को लगाया गया । माॅक अभ्यास के माध्यम से भूकम्प के दौरान की जानी वाली खोज व बचाव की तैयारियों को परखा गया। माॅक ड्रिल में एसडीआरएफ के 25, पुलिस विभाग के 25, आई0टी0बी0पी0 के 60, आर्मी के 12, अग्निशमन 54 , स्वयंसेवी संगठन के 20, रेडक्रास 20, बीआरओ के 10 तथा एनसीसी व एनएसएस के 200 लोगों को शामिल कर प्रभावित क्षेत्रों में खोज व बचाव के लिये अलग- अलग टास्क फोर्स टीम बनायी गयी थी।
माॅक अभ्यास में प्रभारी जिलाधिकारी पी.एल शाह, मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह राणा, पुलिस अधीक्षक ददनपाल, डीएफओ संदीप कुमार, उपजिलाधिकारी नितिका खण्डेलवाल, सौरभ असवाल,आपदा प्रबन्धन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, सूचना विज्ञान अधिकारी रणजीत सिंह चैहान सहित अन्य विभागीय अधिकारियों ने अपना सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : कूड़ा लक्की ड्रा में 2 दिन में बटें 230 से जादा कूपन

वीरेंद्र सिंह / उत्तरकाशी नगरवासियों को स्वच्छता के