उत्तरकाशी के रजनीश ने बनाई किसान थ्रेशर मशीन

उत्तरकाशी के रजनीश ने बनाई किसान थ्रेशर मशीन

- in states, Uttarakhand, Uttarkashi
1834
0
@admin
  • मुकुल नौटियाल / उत्तरकाशी

हिना निवासी एक युवक ने किसान थ्रेशर नाम से मंडाई के लिए मशीन बनाई है। जिसमें एक दिन का काम आधे घंटे में पूरा हो रहा है। वहीं पहाड़ी क्षेत्रों के सीढ़ीदार खेतों के लिए यह किसान थ्रेशर काफी मददगार साबित हो रहा है। इस मशीन को आसानी से एक खेत से दूसरे खेत में ले जाया जा सकता है।

अगर मन में कुछ करने की ललक हो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं होता है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है हिना निवासी 27 वर्षीय रजनीश मखलोगा ने जिसने 12वीं तक की पढ़ाई के बाद होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया है। इस युवक से अपने गांव की पीड़ा देखी नहीं गई। रजनीश बताते हैं कि जब वे बचपन में धान की मंडाई को अपने खेतों में जाते तो सोचते कि अब पूरे दिन धूप में मंडाई करने के साथ पांव में भी काफी दर्द होगा। यही सोच कर उन्होंने कुछ करने की ठन ली। रजनीश बताते हैं कि किसान थ्रेशर को बनाने का कार्य जुलाई 2016 में शुरू किया था और जुलाई 2017 में पूरा कर लिया गया। इस किसान थ्रेशर का डिजाइन उनकी ओर से तैयार किया गया है। वहीं टेक्निकल सपोर्ट दीपक तथा राजवीर का मिला। इस मशीन का भार 35 से 40 किलो है। जबकि इसको बनाने में खर्चा 18 से 20 हजार का आया है। कहा कि अब तक वे छह मशीनें विक्रय कर चुके हैं। वहीं पहाड़ की सीढ़ीदार खेतों के लिए यह मशीन किसानों की मित्र साबित हो रही है। उजेली में एक खेत में इस मशीन का प्रयोग करते वक्त वहां मौजूद अंबेश्वरी पुरी ने कहा कि हमें मंडाई करने में पूरा दिन लग जाता है। लेकिन इस मशीन से कुछ ही समय में आसानी से काम निपट रहा है। मंडाई के दौरान मौजूद जर्मनी के विंगो लोरेंज ने भी इस युवक की सोच की तारीफ की है। कहा कि यहां की परिस्थिति से यह मशीन किसानों के लिए काफी फायदेमंद है।  इस मौके पर अजय पुरी, विंद्र रावत आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : आल वेदर में न तो नियम और न ही आदेशों का पालन,पोल बरसात में खुलनी तय

संतोष साह / उत्तरकाशी आल वेदर के निर्माण