असली परीक्षा तो धैर्य, सहनशीलता औऱ आत्मविश्वास की अब है-IPS अजय कुमार पाण्डे

असली परीक्षा तो धैर्य, सहनशीलता औऱ आत्मविश्वास की अब है-IPS अजय कुमार पाण्डे

सनसनी सुराग न्यूज
जनपद शामली
डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा

 
असली परीक्षा तो अब है…
यद्यपि हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट के परीक्षाफल आ चुके हैं…

पर, बहुतों के लिए असली परीक्षा की घड़ी अब शुरू हुई है। यह परीक्षा है उनके-
-धैर्य की
-सहनशीलता की
-आत्मविश्वास की
ऐसा लिखने और कहने की ज़रूरत इसलिए पड़ी कि इसकी ज़रूरत ख़ास तौर पर उन युवकों और युवतियों के लिए बहुत ज़्यादा है जो—
-परीक्षा में किन्हीं कारणों से असफल हो गए हैं; या
-सफल तो हुए हैं पर कम अंक प्राप्त किए हैं; या
-जितनी उनकी और उनके घर वालों की उम्मीदें थी उतना नहीं प्राप्त कर सके हैं।

मेरी एेसे तमाम छात्र-छात्राओं और उनके माता पिता से अपील है कि भावुकता में कदापि ना बहें। सफलता-असफलता, हार-जीत यह सब तो जीवन और मृत्यु की तरह अटल है। इस दुनिया में ऐसा कोई ना हुआ है जो सदैव ही जीतता रहा हो, सदैव ही विजयी रहा हो। हर कोई….दोबारा कहूँगा…हर कोई कभी ना कभी या कई-कई बार हारता है तब जाकर उसकी जीत मुकम्मल होती है। यही सच है।

पर, हम सभी के सामने जीत की कहानियाँ ही ज़्यादातर परोसी जाती हैं। हार की गाथाएँ बहुत कम आ पाती हैं। परन्तु हार की गाथाओं से बहुत कुछ सीखा जा सकता है। उनका महत्व क़तई कम नहीं है।

जीत की गाथाएँ पढ़ते सुनते हमारे 15-18 वर्ष उम्र वर्ग के मासूम छात्र-छात्राएँ कई बार हार या असफलता को सही तेवर में, सही भाव में और सहजता से नहीं ले पाते हैं और भटक कर ग़लत फ़ैसले ले लेते हैं जोकि उनके, उनके परिवार और सम्पूर्ण समाज के लिए घनघोर पीड़ादायक हो जाता है।

IPS में आने से पहले मैं भी बहुत बार असफल हुआ हूँ। एक बार दुख तो होता ही है, परन्तु उस दुख को अपनी ऊर्जा, अपनी ताक़त और जीतने की ज़िद बना लेने की ज़रूरत होती है। फिर से मेहनत करने की ज़रूरत होती है; अपने में सुधार कर फिर से आगे बढ़ने की ज़रूरत होती है। सफलता एक न एक दिन ज़रूर मिलती है, इसमें कोई शक ही नहीं है।

मेरे सभी छोटे भाई-बहनों से अपील है कि हार को सकारात्मक ढंग से लें; लोगों की अनर्गल बातों को, तानों और टिप्पणियों को अनसुना कर दें।
हतोत्साहित करने वालों से दूर रहें और अपने में सुधार कर आगे बढ़ जाएँ। समय और जीवन अनमोल है, इसे क़तई बर्वाद ना करें। सुनहरा भविष्य आपका इंतज़ार कर रहा है…उससे मिलने के लिए पूरी ऊर्जा और लगन से कड़ी मेहनत करें। शुभकामनाएँ !!

बारम्बार आशीर्वाद और शुभकामनाएँ !!

अजय कुमार, आई पी एस। एसपी शामली।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

विश्व हाथ धुलाई दिवस के अवसर पर प्राथमिक विधालय बदलूगढ में प्रधानाध्यापक राकेश सैनी ने बच्चो को बताया हाथो की गन्दगी से होते है अधिकतर रोग

कैराना / विशाल भटनागर आज दिनाक 15/10/2019 को