अल्मोड़ा जिलाधिकारी ने शीतकालीन और बर्फबारी के मौसम को देखते हुए सम्भावित आपदा से निपटने के लिए सभी अधिकारीयों को सतर्कता का उच्च स्तर बनाये रखने के दिए निर्देश

अल्मोड़ा जिलाधिकारी ने शीतकालीन और बर्फबारी के मौसम को देखते हुए सम्भावित आपदा से निपटने के लिए सभी अधिकारीयों को सतर्कता का उच्च स्तर बनाये रखने के दिए निर्देश

- in Almora, Uttarakhand
149
0
  • अल्मोड़ा / सनसनी सुराग
अल्मोड़ा : शीतकालीन और बर्फबारी के मौसम को देखते हुए सम्भावित आपदा से निपटने के लिए सभी अधिकारी सतर्कता का उच्च स्तर बनाये रखेंगे यह निर्देश जिलाधिकारी सविन बंसल ने एनआईसी सभागार में एक महत्तवपूर्ण बैठक में अधिकारियों को दिये। उन्होने कहा कि किसी भी स्तर से लापरवाही की स्थिति में सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी के खिलाफ आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की सुसंगत धाराओं के अनुसार कार्रवाही अमल में लायी जाएगी।
जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सम्भावित बर्फबारी वाले स्थानों में जेसीबी और डोजर की तैनाती अभी से कर लें और उनके आपरेटरों के मोबाईल नम्बर 28 दिसम्बर तक आपदा परिचालन केन्द्र को देना सुनिश्चित करें। अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण विभाग अपने स्तर से भी इसे मानीटर करें और प्रत्येक सप्ताह कृत कार्यवाही की सूचना लिखित रूप में उपलब्ध करायेगंे और यदि सडक अवरूद्व रहती है तो उसकी सूचना तत्काल आपदा परिचालन केन्द्र को उपलब्ध करायेंगंे यह भी सुनिश्चित करेगें की कोई भी सडक मार्ग यातायात के लिए अवरूद्व न हो। उन्होने कहा कि पाला गिरने वाले स्थानों को चिन्हित कर उसमें चूना आदि डालने की कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाय।
जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को खाद्यान्न के गोदामों का भौतिक सत्यापन एवं निरीक्षण कर उपलब्ध स्टाक की मात्रा का प्रमाण पत्र देने के निर्देश दिये साथ ही गोदामों में अतिरिक्त खाद्यान रखवाने और पेट्रोल पम्पों में भी आवश्यक मात्रा में स्टाक रखने के लिए निर्देशित किया। उन्होने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि बिजली के झूलते तारों को ठीक करवाने के साथ ही ऐसे पेडों की लाॅपिंग करवायी जाय जिनसे बिजली के तारों को टूटने का खतरा हो। उन्होने समय-समय पर लाईन की सर्वे करने का भी निर्देश दिये। उन्होने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को भी विद्यालयों की अद्यतन स्थिति से अवगत कराने के साथ ही वहां बिजली, पानी और शौचालयों की वास्तविक रिर्पोट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने स्वास्थय विभाग के अधिकारियों को सभी प्राथमिक और सामुदायिक केन्द्रों मे आवश्यक दवाईयों को उपलब्धता बनाये रखने सहित प्रभारी चिकित्साधिकारियों से स्टाक की सूची प्राप्त करने के निर्देश दिए। साथ ही इन केन्द्रों में जो ऐम्बुलेन्स, 108 के वाहन या अन्य आपात कालीन वाहनों की संख्या व उनके चालकों के मोबाईल नम्बर आपदा परिचालन केन्द्र में देना सुनिश्चित करें। जल संस्थान के अधिकारियों को भी जो पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त है उसे ठीक कराने के साथ ही पाला पडने वाले स्थानों पर जो भी कार्यवाही की जानी है उसे समय से पूर्ण कर लें। साथ ही अल्मोडा, रानीखेत और भिकियासैंण में पेयजल आपूर्ति हेतु पानी के टैंकर है उनकी संख्या और वाहन चालकों के नम्बर से भी अवगत करायेगें।
जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों और अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिये कि ठण्ड के मौसम को देखते हुए चिन्हित स्थानों पर अलाव जलाना भी सुनिश्चित करेंगें। उन्होने समस्त अधिकारियों को अपना मोबाइल नम्बर हमेशा खुला रखने के भी निर्देश दिये। उन्होने कहा कि समस्त अधिकारी  किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए आपसी समन्वय के साथ कार्य करेंगे। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि कोई भी अधिकारी बिना उनकी पूर्वानुमति के मुख्यालय नहीं छोडेंगे यदि कोई मामला प्रकाश में आया तो उसे गम्भीरता से लिया जाएगा।
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर, मुख्य विकास अधिकारी जे0एस0 नागन्याल, अपर जिलाधिकारी/उप जिला निर्वाचन अधिकारी के0एस0 टोलिया, जिला पूर्ति अधिकारी टी0एन0 उपाध्याय, जिला आपदा प्रबन्ध अधिकारी राकेश जोशी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 योगेश पुरोेहित, अधिशासी अभियन्ता विद्युत डी0डी0 पांगती, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान नन्द किशोर, पुलिस उपाधीक्षक आर0एस0 टोलिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चुनावी महाभारत : यमनोत्री में कोंग्रेस प्रत्तयासियों की भीड़

यमुनोत्री / अरविन्द थपलियाल विधानसभा: कांग्रेंस में कौन